COVID-19 की उत्‍पत्ति फ्रोजन फूड से होने की संभावना बेहद कम: WHO रिपोर्ट


WHO टीम ने कहा है, वायरस के कोल्‍ड चेन कंटेमिनेशनल के कारण होने की संभावना बेहद कम है

खास बातें

  • वर्ष 2019 में आया था कोरोना का पहला मामला
  • चीन पर है नियंत्रण में लापरवाही बरतने का आरोप
  • कोरोना के चलते दुनिया में 27 लाख लोगों की गई है जान

बीजिंग:

अंतरराष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों ने कहा है कि चीन के वुहान शहर में कोविड-19 (Covid-19) की उत्‍पत्ति आयातित फ्रोजन फूड (imported frozen meals) से होने की संभावना बेहद कम है. वर्ष 2019 में कोरोना वायरस की उत्‍पत्ति को लेकर चीन की ओर से बताए गए कारण पर उन्‍होंने संदेह जताया है. चीन ने उस शुरुआती धारणा पर सवाल उठाए थे कि कोरोना वायरस की शुरुआत उसके वुहान शहर से हुई थी और उसने वायरस के शुरुआती प्रकोप की खबरों को छुपाया और वायरस पर नियंत्रण के प्रयासों में कोताही बरती. 

यह भी पढ़ें

दिल्ली में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच बड़े अस्पतालों में आईसीयू बेड का टोटा

आधिकारिक तौर पर जारी होने के पहले AFP को मिली रिपोर्ट के अनुसार, वर्ल्‍ड हेल्‍थ आर्गेनाइजेशन की ओर से नियुक्‍त टीम और चीनी वैज्ञानिकों का मानना है कि वायरस के कोल्‍ड चेन कंटेमिनेशनल के कारण होने की संभावना बेहद कम है.

इसमें यह भी कहा गया है कि दिसंबर में चीन में वायरस की फ्रोजन फूड से हुई शुरुआत असाधारण रही होगी क्‍योंकि उस समय यह वायरस और कहीं नहीं पाया गया था. इसमें कहा गया है कि इस बात के कोई पुख्‍ता प्रमाण नहीं है कि वायरस के फैलने में फ्रोजन फूड की कोई अहम भूमिका थी. रिपोर्ट में यह कहा है कि कोविड-19 इंसानों में चमगादड़ों के जरिये फैला लेकिन उन्‍होंने इस धारणा को नकारा है कि वायरस, मध्‍य चीन के हाई सिक्‍युरिटी लैब से लीक हुआ.

ब्रिटेन में लोगों को लॉकडाउन में मिली रियायत, प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने किया ऐलान

गौरतलब है कि कोरोना वायरस ने पूरीदुनिया में इस समय कहर बरपा रखा है. इस वायरस के कारण दुनिया में अब तक 27 लाख 83 हजार लोगों की जान जा चुकी है. अब तक 12 करोड़, 71 लाख से अधिक कोरोना के मामले दुनिया में सामने आए हैं, इसमें से 7 करोड़, 20 लाख लोग रिकवर कर चुके हैं. दुनिया में कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या इस समय 5 करोड़, 23 लाख के आसपास है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *